Last week (Sept 2015)-को कुशीनगर में ब्रह्मर्षि महासम्मेलन होगा

मूलपुरुष श्रीपरशुराम जी को आदर्श मानते हुए एकजुट हो-अखिल विश्व ब्रह्मर्षि समाज

ब्रह्मर्षि समाज के उत्थान के लिए तत्काल विश्व, राष्ट्र, प्रदेश, जिला, प्रखंड और पंचायत स्तर पर एक मजबूत संगठन बने। और समाज के चहुंमुखी विकास के लिए धार्मिक, राजनैतिक, शैक्षणिक, सामाजिक और आर्थिक क्षेत्रों में संगठित सुनियोजित अभियान तत्काल प्रारम्भ होना चाहिए।

जागो ब्रह्मर्षि समाज जागो।
अभी नहीं तो कभी नहीं।।

एकता ही हमारी पहचान है। हम सबको एक साथ रहने, एक साथ बढ़ने की भावना को मिलकर विकसित करना होगा। इससे न केवल एक परिवार फलता-फूलता है, बल्कि एक राज्य व एक देश को आगे बढ़ने की शक्ति भी मिलती है। समाज के उन सभी अप्रतिग्राही, अयाचक, ब्राह्मणों की शाखाएं देश के विभिन्न भागों में फैली हैं। त्यागी, गालव, भूमिहार, मोहियाल, चित्तपावन ,औदिच्य,अनामिल, कान्यकुब्ज ,नम्बूदरी और अयाचक ब्राह्मणों के विभिन्न घटक अगर समन्वय के साथ आगे बढ़ेंगे, तो समाज का विकास होगा। Last week (Sept 2015)-को कुशीनगर में ब्रह्मर्षि महासम्मेलन होगा । पूर्वांचल भूमिहार ब्राह्मण समाज ने ब्रह्मर्षि समाज के लोगों को पूरी एकजुटता के साथ एक मंच पर आने का आह्वान किया है।

निवेदक -पूर्वांचल भूमिहार ब्राह्मण समाज
Bir Bhadra Rai
09415323767

Last week (Sept 2015)-को कुशीनगर में ब्रह्मर्षि महासम्मेलन होगा

Last week (Sept 2015)-को कुशीनगर में ब्रह्मर्षि महासम्मेलन होगा

Leave A Reply